Thursday, 27 September 2012


ख्वाबों में भी, देते रहे दुआएँ जिसको
उस की बद्दुआ ने ही, तन्हा किया मुझे........

मंजरी

No comments:

Post a Comment